दिल्ली प्रोटेस्ट में अखिलेश यादव के ना आने पर क्या बोले बृज भूषण शरण सिंह कहा विरोध के पीछे है राजनीतिक साजिश। वर्तमान समाचार

नई दिल्ली: भारतीय कुश्ती महासंघ के प्रमुख और भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने आज “एक परिवार” और “एक अखाड़ा” के खिलाफ अपने गुप्त आरोपों को स्पष्ट करते हुए कहा कि महिला पहलवानों के यौन उत्पीड़न की फर्जी शिकायतों से उनकी छवि खराब हो रही है, उनपर आरोप तो लगाए जा रहे हैं लेकिन अभी तक कुछ साबित नहीं हुआ है ऐसे में बार-बार आरोप लगाकर उनकी छवि को उन्होंने कहा कि 90 प्रतिशत एथलीट और उनके अभिभावक कुश्ती महासंघ पर भरोसा करते हैं, उन्होंने कहा कि जिन महिलाओं ने उनके खिलाफ शिकायत की है, वे सभी एक परिवार और एक ही अखाड़े से आती हैं। उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया जानती है कि ये सभी महिलाएं महादेव कुश्ती अकादमी से हैं और कांग्रेस नेता दीपेंद्र सिंह हुड्डा उस अखाड़े के संरक्षक हैं। अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ बोलना शुरू किया, जिस पर ध्यान दिया जाना चाहिए क्योंकि प्रदर्शनकारी भी भारतीय रेलवे के कर्मचारी हैं”। सिंह ने कहा कि अगर आपको न्याय चाहिए तो वो आपको जंतर मंतर से नहीं मिलेगा, उसके लिए आपको पुलिस या कोर्ट के पास जाना पड़ेगा, जो उन्होंने किया नहीं सिवाए आरोप लगाने के। उनसे पूछा गया कि अखिलेश यादव इस विरोध प्रर्दशन मे पहलावानों के समर्थन में क्यों नही आए तब सिंह ने जवाब दिया कि हम एक दूसरे को बचपन से जानते हैं। उत्तर प्रदेश से आने वाले 80 फीसदी पहलवान समाजवादी पार्टी की विचारधारा वाले परिवारों से आते है, और वे मुझे ‘नेताजी’ कहते हैं, वे कहते हैं कि उन्हें पता है नेताजी कैसे हैं। बता दें कि कांग्रेस की प्रियंका गांधी वाड्रा और आम आदमी पार्टी के अरविंद केजरीवाल सहित शीर्ष विपक्षी नेताओं ने भी जंतर मंतर पहुंच कर पहलवानों को अपना समर्थन दिया। वहीं बृज भूषण सिंह ने ओलंपिक के पदक विजेता बजरंग पुनिया का भी जवाब दिया, जिन्होंने कल पूछा था कि आरोपी शिकायतकर्ताओं की पहचान कैसे जानते हैं, यह दावा करने के लिए कि वे सभी एक ही परिवार से हैं। जिसपर उन्होंने कहा, ‘मैं ही क्या पूरी दुनिया जानती है। बृजभूषण सिंह इससे पहले भी कहा था कि उनके लिए पद से इस्तीफा देना बड़ी बात नहीं है और यह पहलवानों की मांग भी थी। लेकिन वह ऐसा एक अपराधी के रूप में बिलकुल नहीं करना चाहते।  

Show More

Related Articles

Back to top button