महिला पहलवानों पर क्या बोले बृज भूषण, किस महिला पहलवान ने बोला है झूठ? वर्तमान समाचार

पहलवानों के जंतर मंतर पर धरने को लेकर अब भारतीय जनता पार्टी से कैसरगंज से सांसद व भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह महिला पहलवानों के यौन शोषण के आरोपों पर तीखी टिपण्णी की है। उन्होंने कहा है कि वे आजतक किसी भी महिला पहलवान से आजतक बंद कमरे में नहीं मिले। रही बात गले लगने की तो वह पहलवान ही मेडल जीतने की खुशी में मुझसे लिपटीं थीं, मैं नहीं। अगर यह अपराध है तो उत्साह जताने की परंपरा ही खत्म हो जानी चाहिए। विश्वनोहरपुर में मंगलवार को आरोपों का जवाब देते हुए बृजभूषण ने कहा कि महिला पहलवान के पास मोबाइल नहीं था, तो वह अपने पिता से बात करने मेरे पास आईं थीं। मैंने उनके पिता से बात कराई और फिर गले लगा लिया। वहां मेरी नीयत साफ थी, मगर जब वह असहज हो गईं तब मैंने कहा था कि एक पिता की तरह गले लगाया है। बृजभूषण ने कहा कि मैंने कभी किसी महिला पहलवान से ऐसा व्यवहार नहीं किया जो गलत हो। मेडल पाने का मतलब यह नहीं है कि कोई झूठ नहीं बोल सकता। एक ओलंपियन खुद ही जेल में है। इससे समझा जा सकता है कि मेडल जीतने के बाद भी कोई कुछ भी कर सकता है। सभी आरोपों का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि पहलवानों के कहने पर ही जांच समीती को बनाया गया था। उसी समीती ने उनसे भी कुछ सवाल किए थे, जिसका जवाब उन्होंने नहीं दिया ऊपर से जांच की रिपोर्ट आने का भी इंतजार नहीं किया सीधे धरने पर बैठ गए। सिंह ने कहा कि न तो पहलवानों जांच रिपोर्ट पर विश्वास है न ही दिल्ली पुलिस पर विश्वास है। ऐसे में उन्हें अपने अपने अधिवक्ता कपिल सिब्बल से मिलकर CBI जांच करा लेनी चाहिए, जहां कहीं से भी उन्हें संतुष्टी मिलती हो वहीं से जांच करा लें हर जांच पर सवाल खड़े करना अच्छी बात नहीं है। वे यहीं नहीं रुके उन्होंने यह भी कहा कि अगर वे जांच मे दोषी पाए गए तो वे सजा भुगतने को भी तैयार हैं, तबतक उनपर बेमतलब के आरोप लगाकर उन्हें बदनाम न किया जाए।

Show More

Related Articles

Back to top button