उत्तर प्रदेश: अतीक और अशरफ की कहानी तो खत्म लेकिन पिक्चर अभी बाकी है…..वर्तमान समाचार

उत्तर प्रदेश पुलिस ने यूपी के सर्वाधिक कुख्यात क्रिमिनलों, माफियाओं की सूची सार्वजनिक कर दी है। माफिया अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ को तो मिट्टी में मिला दिया गया। लेकिन क्या उत्तर प्रदेश में अतीक और अशरफ के अलावा जो दूसरे माफिया मौजूद हैं। उनपर क्या कार्रवाई करेगी यूपी पुलिस क्या उन्हे भी मिट्टी में मिलाया जाएगा। प्रदेश की पुलिस ने अपराध को लेकर जो ज़ीरो टोलरैंस की नीति अपनाई है वह काबिले तारीफ है लेकिन अभी भी इसमें काफी लूप होल्स हैं जिनपर काम किया जाना है। उत्तर प्रदेश पुलिस एडीजी क्राइम ऑफिस के हवाले से जारी की गई लिस्ट में ये भी बताया गया है कि किस मोस्ट वांटेड पर कितने का इनाम है।

नीचे पूरी लिस्ट देखें-

विवेक कुमार बुलंदशहर- 50,000

सलीम मुख्तार शेख लखनऊ- 50,000

संजीव नाला मुज्जफरनगर- 50,000

सुनील महकर सिंह सहारनपुर- 50,000

राम नरेश ठाकुर आगरा- 50,000

विश्वास नेपाली वाराणसी- 50,000

सुनील यादव वाराणसी- 50,000

अजीम अहमद वाराणसी- 50,000

मनीष सिंह वाराणसी- 50,000

शहाबुद्दीन गाजीपुर- 2,00,000

अताउर्रहमान बाबू उर्फ सिकंदर गाजीपुर- 2,00,000

बहर उर्फ बहारुद्दीन कौशांबी- 50,000

रुद्रेश उपाध्याय उर्फ पिंटू भदोही- 50,000

आफताब आलम प्रयागराज- 50,000

शिवा बिंद उर्फ शिव शंकर बिंद गाजीपुर- 50,000

हरीश मुजफ्फरनगर- 2,00,000

सुमित मुरादाबाद- 2,00,000

बदन सिंह बद्दो मेरठ- 2,50,000

मनीष सिंह सोनू वाराणसी- 2,00,000

राघवेंद्र यादव गोरखपुर- 2,50,000

दीप्ति बहल गाजियाबाद- 5,00,000

भूदेव बुलंदशहर- 5,00,000

विजेंद्र सिंह हूड्डा मेरठ- 5,00,000

राशिद नसीम लखनऊ-  5,00,000

आदित्य राणा बिजनौर- 2,50,000

राम चरण उर्फ बौरा बारांबकी- 3,00,000

दिनेश कुमार सिंह रायबरेली- 1,50,000

गौरतलब है कि  इस लिस्ट में ढाई लाख का इनामी ‌आदित्य राणा, 2 लाख का इनामी मनीष सिंह सोनू और 50 हजार का इनामी बदमाश मनीष सिंह का भी नाम है। बता दें 12 अप्रैल 2023 को बिजनौर के आदित्या राणा और 21 मार्च 2022 को मनीष सिंह सोनू को पुलिस ने एनकांउटर में मार गिराया। कानपुर का 50 हजार का इनामी मनीष सिंह भी जेल में है।

माफियाओं पर कौन-कौन रखता है नजर

सूचीबद्ध माफिया की गतिविधियों पर एसटीएफ और जिला पुलिस कड़ी नजर रखती है। शासन स्तर से पहले अनुमोदित 25 सूचीबद्ध माफिया में माफिया मुख्तार अंसारी, बृजेश सिंह, त्रिभुवन  उर्फ पवन सिंह, संजीव महेश्वरी उर्फ जीवा, ओमप्रकाश श्रीवास्तव उर्फ बबलू, सुशील उर्फ मूंछ, सीरियल किलर सलीम,  रुस्तम व सोहराब समेत अन्य कुख्यातों के नाम शामिल हैं।

प्रदेश में हैं कुल 64 सूची बद्ध माफिया।

मेरठ जोन: उधम सिंह, योगेश भदोड़ा, बदन सिंह उर्फ बद्दो, हाजी याकूब कुरैशी, शारिक, सुनील राठी, धर्मेंद्र, यशपाल तोमर, अमर पाल उर्फ कालू, अनुज बारखा, विक्रांत उर्फ विक्की, हाजी इकबाल उर्फ बाला, विनोद शर्मा, सुनील उर्फ मूंछ, संजीव माहेश्वरी उर्फ जीवा व विनय त्यागी उर्फ टिंकू, आगरा जोन के अनिल चौधरी व ऋषि कुमार शर्मा, बरेली जोन के एजाज, कानपुर जोन के अनुपम दुबे।

लखनऊ कमिश्नरेट: खान मुबारक, अजय प्रताप सिंह उर्फ अजय सिपाही, संजय सिंह सिंघाला, अतुल वर्मा, मु.सहीम उर्फ कासिम प्रयागराज जोन के डब्बू सिंह उर्फ प्रदीप सिंह, सुधाकर सिंह, गुड्डू सिंह, अनूप सिंह।

वाराणसी जोन: मुख्तार अंसारी, त्रिभुवन उर्फ पवन सिंह, विजय मिश्रा, ध्रुव सिंह उर्फ कुंटू सिंह, अखंड प्रताप सिंह, रमेश सिंह उर्फ काका।

गोरखपुर जोन: संजीव द्विवेदी उर्फ रामू द्विवेदी, राकेश यादव, सुधीर कुमार सिंह, विनोद कुमार उपाध्याय, राजन तिवारी, रिजवान जहीर, देवेन्द्र सिंह।

गौतमबुद्धनगर कमिनरेट: सुंदर भाटी, सिंहराज भाटी, अमित कसाना, अनिल भाटी, रणदीप भाटी, मनोज उर्फ आसे, अनिल दुजाना।

कानपुर कमिश्नरेट: सऊद अख्तर, लल्लू यादव, बच्चू यादव व जुगनू वालिया उर्फ हरिवंदर सिंह।

प्रयागराज कमिश्नरेट: बच्चा पासी उर्फ निहाल पासी, दिलीप मिश्रा, जावेद उर्फ पप्पू, राजेश यादव, गणेश यादव, कमरुल हसन, जाविर हुसैन व मुजफ्फर।

वाराणसी कमिश्नरेट : अभिषेक सिंह हनी उर्फ जहर, बृजेश कुमार सिंह व सुभाष सिंह ठाकुर।

Show More

Related Articles

Back to top button