उत्तर प्रदेश: सरकार ने जारी की माफियाओं की सूची 61 नाम हैं शामिल। वर्तमान समाचार

उत्तर प्रदेश में योगी-आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली सरकार राज्य भर की विभिन्न जेलों में बंद खूंखार अपराधियों और उनके गुर्गों पर शिकंजा कसने की तैयारी कर रही है। खबर है कि प्रशासन ने अपने निशाने पर 500 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क करने के उद्देश्य से 61 माफियाओं की सूची पहले ही तैयार कर ली है। हालांकि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को अभी सूची को मंजूरी देना बाकी है। गौरतलब है कि यह सूची तब आई है जब माफिया से गैंगस्टर बने अतीक अहमद की बीते 15 अप्रैल को तीन युवकों द्वार गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। उत्तर प्रदेश पुलिस के स्पेशल डीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार के मुताबिक यूपी पुलिस ने शराब माफिया, वन माफिया, अवैध बालू खनन, व मवेशी तस्करी समेत अन्य पर नकेल कसने के लिए 61 अपराधियों की सूची तैयार कर ली है।

इनमे से कुछ के नाम नीचे निम्न हैं-

मेरठ जोन-

  • उधम सिंह और योगेश भदौरा- मेरठ से पुलिस ने उधम सिहं और योगेश भदौरा को सूचिबद्ध किया है। दोनों ही एक दूसरे के कट्टर दुश्मन भी हैं।
  • बदन सिंह बद्दो- माफिया बदन सिंह बद्दो का नाम पश्चिमी यूपी के प्रमुख बदमाशों मे शामिल है। उसके खिलाफ लगभग 40 मुकदमें चल रहे हैं। जिनमें ज्यादातर मर्डर, लूट और डकैती के हैं।
  • सुनिल राठी- वैसे तो सुनिल राठी का नाम इतना प्रचलित नहीं लेकिन फिर भी वह पश्चिमी यूपी के कुख्यात बदमाशों की सूची में शामिल है। योगी सरकार में ही सुनिल राठी के ऊपर बागपत जेल में मुन्ना बजरंगी की हत्या का आरोप है।

गोरखपुर जोन-  

  • राजन तिवारी- उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले के सोहगौरा गांव निवासी राजन तिवारी प्रकाश शुक्ला का सहयोगी है। राजन तिवारी उत्तर प्रदेश और बिहार का जाना-माना माफिया है।
  • सुधीर सिंह- सुधीर सिहं बसपा नेता व गोरखपुर जिले के पिपरौली के पूर्व प्रखंड प्रमुख व माफिया सुधीर सिंह पर लगभग 26 आपराधिक मामले दर्ज हैं।
  • विनोद उपाध्याय- विनोद उपाध्याय गोरखपुर का जाना माना माफिया है। जिसके खिलाफ अलग-अलग थानों मे मर्डर से लेकर रॉबरी, डकैती के करीब 25 मामले दर्ज हैं। फिलहाल वह फतेहगड़ जेल में है।

पार्टी से भी जुड़े हैं कुछ माफिया-

  • रिज़वान ज़हीर- समाजवादी पार्टी के नेता और पूर्व सांसद रिज़वान ज़हीर बलरामपुर के रहने वाले हैं। बता दें कि रिज़वान ज़हीर जो पूर्व सांसद भी रह चुके हैं उनके खिलाफ लगभग 14 मुकदमे दर्ज हैं जिनमे से कई मर्डर के भी हैं।
  • दिलीप मिश्रा- प्रयागराज बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी मे रह चुके दिलीप मिश्रा के ऊपर उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री नंद गोपाल नंदी के ऊपर हमला करने का मामला दर्ज है। फिलहाल ये फतेगढ़ की एक जेल में बंद है।
  • अनुपम दुबे- फर्रुखाबाद का रहने वाला अनुपम दुबे कुख्यात गैंगस्टर व माफियाओं मे से एक है। अनुपम के खिलाप हत्या, डकैती के लगभग 40 मामले दर्ज हैं।   

Show More

Related Articles

Back to top button