उत्तर प्रदेश: एसटीएफ ने गैंगस्टर अनिल दुजाना को किया ढेर, करीब 5 दर्जन से ज्यादा मामलों मे था दोषी। वर्तमान समाचार

मेरठ: कुख्यात गैंगस्टर अनिल दुजाना को आज उत्तर प्रदेश पुलिस एसटीएफ ने एक एनकाउंटर में मार गिराया। मिली जानकारी के अनुसार एसटीएफ ने उसे मेरठ के भोला झाल पर सक्रिये होने के बाद चारों ओर से घेर लिया था। जिसके बाद उसने पुलिस पर ही फायरिंग करते हुए भागने की कोशिश कर की। इसी बीच पुलिस ने उस पर कई राउंड गोलियां चलाईं जिससे उसकी मौत हो गई। बता दें कि अनिल दुजाना पर उत्तर प्रदेश समेत अन्य राज्यों में लगभग 50 हत्या, रंगदारी, फिरौती आदि के केस दर्ज थे। बादलपुर का निवासी दुजाना अपने गांव में कभी कुख्यात सुंदर नागर उर्फ सुंदर डाकू के नाम से भी जाना जाता था। सत्तर और अस्सी के दशक में सुंदर का दिल्ली-एनसीआर में भी काफी खौफ था।

जब इंदिरा गांधी को दे डाली थी धमकी।

उसने तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी तक को जान से मारने की धमकी दे दी थी। इसी दुजाना गांव का है अनिल नागर उर्फ अनिल दुजाना। पुलिस रिकॉर्ड में 2002 में गाजियाबाद के कवि नगर थाने में इसके खिलाफ हरबीर पहलवान की हत्या का पहला मुकदमा दर्ज हुआ। मुजफ्फरनगर के रोहाना में भी एक हत्या के मामले में वह शामिल रहा था।

जयचंद प्रधान की पत्नी को दे रहा था धमकी।

जेल से बाहर आने के बाद दुजाना ने जयचंद प्रधान मर्डर केस से जुड़ी उसकी पत्नी और मुख्य गवाह संगीता को जान से मारने की धमकी दी थी। जिसके बाद पुलिस के उच्च अधिकारियों ने एक्शन लेते हुए अनिल दुजाना के खिलाफ पिछले सप्ताह में 2 मुकदमे दर्ज किए थे। गुरुवार दोपहर को मेरठ एसटीएफ की टीम को अनिल दुजाना के गंग नहर पर होने की सूचना प्राप्त हुई थी, जिसके बाद टीम ने घेराबंदी करने के बाद अनिल दुजाना को भोला की झाल पर मुठभेड़ में मार गिराया।

Show More

Related Articles

Back to top button