उत्तर प्रदेश: तो छिपकर अतीक के जनाजे में शामिल होने आई थी शाइस्ता, पर…..। वर्तमान समाचार

उमेश पाल हत्याकांड मे फरार आरोपी शाइस्ता परवीन के बारे में एक चौंकाने वाली बात सामने आई है। शाइस्ता अपने पति अतीक अहमद व देवर अशरफ की हत्या के अगले दिन उनके जनाजे में चोरी छिपे शामिल होना चाहती थी। यहां वह अतीक के वफादार जफरउल्लाह के खुल्दाबाद स्थित घर में ठहरी भी थी। वह अकेले नहीं आई थी उसके साथ उमेश पाल हत्याकांड का एक अन्य आरोपी पांच लाख का इनामी साबिर भी साथ आया था। हालांकि पुलिस को जब तक इस बात की जानकारी मिली, दोनों वहां से निकल चुके थे। इस बात का खुलासा जफरउल्लाह के बेटे आतिन जफर ने पुलिस से पूछताछ में किया है। बता दें कि आतिन जफर अतीक के बेट असद का काफी करीबी दोस्त है। उसके साथ ही लखनऊ में रहता भी था। उमेश पाल हत्याकांड के बाद पुलिस के डर से वह खुल्दाबाद स्थित अपने घर भाग आया था। सूत्रों के मुताबिक पुलिस की पूछताछ में उसने काफी चौकानें वाले खुलासे किए हैं। आतिन ने बताया कि शाइस्ता व साबिर अतीक और अशरफ के जनाजे मे शामिल होने के लिए भेस बदल कर आए थे और उनकी योजना भेस बदलकर ही जनाजे में शामिल होने की थी।

चार दिन पहले दोबारा आया था साबिर।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक इनामी बदमाश साबिर दो मई को फिर जफरउल्लाह के घर आया था। जब शाइस्ता ने उसे किसी काम से भेजा था। इसकी भनक लगी तो रात में नौ बजे के करीब धूमनगंज पुलिस ने जफरउल्लाह के घर पर छापा भी मारा। हालांकि अंधेरे व घनी आबादी का फायदा उठाकर साबिर वहां से भाग निकलने में कामयाब रहा और पुलिस उसे पकड़ने में नाकामयाब रही।

Show More

Related Articles

Back to top button