उत्तर प्रदेश: नोएडा के पास टूटी हुई मिलीं मंदिर की मूर्तियां, पुलिस ने जांच शुरू की| वर्तमान समाचार

एक चौंकाने वाली घटना में, उत्तर प्रदेश में गुरुवार सुबह नोएडा के पास एक मंदिर की कुछ मूर्तियाँ खंडित पाई गईं। पुलिस घटना में नशे में धुत्त कुछ बदमाशों के शामिल होने की आशंका जता रही है। अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने मामले की जांच शुरू कर दी है।

अतिरिक्त डीसीपी (सेंट्रल नोएडा) हृदेश कठेरिया ने कहा, “रीछपाल गढ़ी गांव में मंदिर में तोड़फोड़ की सूचना स्थानीय पुलिस को मिली। सभी अनुष्ठानों का पालन करते हुए वहां नई मूर्तियां स्थापित की गईं  है।”

उन्होंने कहा, “प्रारंभिक जांच के दौरान, पुलिस को मंदिर के पास शराब की कुछ खाली बोतलें मिली हैं, जिससे पता चलता है कि कुछ नशे में धुत बदमाश तोड़फोड़ की घटना में शामिल हो सकते हैं।”

अधिकारी ने कहा कि स्थानीय बिसरख पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया है और आरोपी की गिरफ्तारी के प्रयास जारी हैं।

बांकेबिहारी मंदिर कॉरिडोर को मिली हरी झंडी

इस सप्ताह की शुरुआत में श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए मथुरा के प्रसिद्ध बांके बिहारी मंदिर में कॉरिडोर बनाने की उत्तर प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी परियोजना को इलाहाबाद उच्च न्यायालय से बड़ी राहत मिली। अदालत ने पवित्र शहर में बुनियादी ढांचे को बढ़ाने की योगी आदित्यनाथ सरकार की योजना को हरी झंडी दे दी।

मुख्य न्यायाधीश प्रीतिंकर दिवाकर और न्यायमूर्ति आशुतोष श्रीवास्तव की पीठ ने आनंद शर्मा और मथुरा के एक अन्य व्यक्ति द्वारा दायर जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए यह आदेश पारित किया।

कॉरिडोर परियोजना के बारे में?

योजना के अनुसार, गोस्वामी (पुजारियों) द्वारा की जाने वाली पूजा और अन्य अनुष्ठानों के दौरान किसी भी प्रकार का कोई हस्तक्षेप नहीं होगा। कॉरिडोर परियोजना का उद्देश्य भक्तों द्वारा दर्शन और पूजा की सुविधा प्रदान करना है। सरकार मंदिर परिसर में पार्किंग क्षेत्र जैसी सुविधाएं भी बनाना चाहती है। इसका खर्च यूपी सरकार उठाएगी।

Show More

Related Articles

Back to top button