उत्तर प्रदेश: मेरठ में दो पक्षों के विवाद में हुआ खूनी संघर्ष, 2 महिलोओं की मौत। वर्तमान समाचार

मेरठ: बीते रविवार को मेरठ में दो पक्षों के विवाद में चली गोली से दो महिलाओं की मौत हो गई। डबल मर्डर की जानकारी प्राप्त होते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस डेडबॉडी को कब्जे में लेकर आरोपियों की तलाश मे जुट गई। मामला खरखौदा इलाके का है।

Meerut Crime Vartman Samachar
मेरठ में दो पक्षों के विवाद में चली गोलियां

नमाज के बाद शुरु हुआ बवाल।

मेरठ के खरखौदा थाना क्षेत्र में गांव सलेमपुर है। जहां दो दिन पहले लोग नमाज के लिए एकजुट हुए थे। बता दें की इस दौरान यहां दो घरों के बच्चों के बीच कुछ कहा सुनी हुई थी। जिसमें बाद में बड़े भी आ गए। जिसके बाद यह मामला बड़ता ही चला गया। शुक्रवार को ग्रामीणों ने दोनों पक्षों को समझा कर किसी तरह से बात को खत्म करा दीया।

रविवार को फिर आमने-सामने आए दोनों पक्ष।

बीते रविवार को दोनों पक्ष एक बार फिर आमने सामने आ गए और तो और दोनों में मारपीट भी शुरु हो गई। दोनों तरफ से मारपीट और गोलीयां चलने लगीं। गोलीयों की आवाज़ सुन लोग भी अपने घरों मे छिप गए। गोलीबीर के दौरान मेहराज उम्र 35 साल और आफरोज उम्र 45 साल को गोली लग गई। अफरा तफरी में दोनो को अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उन्हें मृत घोषित कर दीया गया। इसके बाद गुस्साए परिजन शव के साथ सड़क पर बैठ गए, पुलिस प्रशासन ने किसी तरह उन्हें समझा बुझा कर सड़क को खाली करवाया।

गांव मे तनाव, भारी पुलिस बल तैनात।

डबल मर्डर की सूचना मिलते ही पुलिस सीधा अस्पताल पहुंची जहां दोनों पक्ष एक बार फिर आमने-सामने आ गए और मारपीट करने लगे। पुलिस ने वहां से दोनों को अलग कर दोनों शवों को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमोर्टम के लिए भेज दिया। मेहराज पक्ष का कहना है कि मेहराज दूध का काम करता था, और बीते रविवार को नमाज पढ़ कर लौट रहा था। तभी दोनों पक्षों का आमना सामना हुआ और विवाद शुरु हो गया। एक पक्ष ने मेहराज को मस्जिद की दीवार से सटा कर गोली मार दी जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। बात करें दूसरे पक्ष की तो इकबाल की पत्नी आफरोज किराना की दुकान चलाती थी। मेहराज पक्ष की ओर से लगाए गए आरोप के मुताबिक उन्हें फसाने के लिए आफरोज को गोली मारी गई। आरोप है कि आफरोज के बेटे जॉनी ने ही उसे गोली मारी। घटना के बाद से इकबाल और उसका बेटा फरार हैं।  

Show More

Related Articles

Back to top button