टमाटर की कीमतों में बढ़ोतरी जारी, बारिश के बीच 250 रुपये प्रति किलो के पार|

मानसून की बारिश और प्रतिकुल मौसम के कारण खुदरा बाजारों में टमाटर की कीमतें रविवार को भी तेजी से बढ़ीं और प्रमुख शहरों में टमाटर की कीमतें 250 प्रति किलोग्राम के स्तर को पार कर गईं।

सरकारी आंकड़ों के अनुसार, टमाटर की अखिल भारतीय औसत कीमत लगभग 120 रुपये प्रति किलोग्राम थी। हालांकि, केंद्र ने उपभोक्ताओं को राहत देने के प्रयास किए, सरकार ने दिल्ली-एनसीआर, पटना और लखनऊ जैसे चुनिंदा शहरों में टमाटर को 90 रुपये प्रति किलोग्राम की रियायती कीमत पर बेचना शुरू किया।

सरकारी आंकड़ों से पता चला है कि शनिवार को दिल्ली-एनसीआर में मोबाइल वैन के जरिए करीब 18,000 किलोग्राम टमाटर बेचे गए। भारतीय राष्ट्रीय सहकारी उपभोक्ता संघ (एनसीसीएफ) और भारतीय राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन महासंघ (नेफेड) केंद्र की ओर से मोबाइल वैन के माध्यम से टमाटर बेच रहे हैं।

केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के सचिव रोहित कुमार सिंह ने ट्वीट किया, “दिल्ली और नोएडा के विभिन्न हिस्सों के अलावा, लखनऊ, पटना और मुजफ्फरपुर में रियायती दरों पर टमाटर की बिक्री आज से शुरू हुई”।

विभाग ने कहा, “हमने आज लखनऊ में बिक्री शुरू की और 7,000 किलोग्राम बेचा गया। कल, हम दिल्ली और लखनऊ में बिक्री जारी रखते हुए कानपुर में भी खुदरा बाजार में बिक्री करेंगे”।

महानगरों में, दिल्ली में टमाटर 178 रुपये प्रति किलोग्राम पर था, इसके बाद मुंबई में 150 रुपये प्रति किलोग्राम और चेन्नई में 132 रुपये प्रति किलोग्राम था। सबसे ज्यादा कीमत 250 रुपये प्रति किलो हापुड में रही। टमाटर की कीमतें आम तौर पर जुलाई-अगस्त और अक्टूबर-नवंबर की अवधि के दौरान बढ़ती हैं, जो आम तौर पर कम उत्पादन वाले महीने होते हैं। मानसून के कारण आपूर्ति में व्यवधान के कारण दरों में तेज वृद्धि हुई है।

Show More

Related Articles

Back to top button