आज क्रांति दिवस पर भाजपा के कई दिग्गज, शूरवीरों को याद करते नजर आए। वर्तमान समाचार

मेरठ- जब कभी भी क्रांति की बात होती है, तो मेरठ की सबसे पहले बात आती है, क्योंकि क्रांति की पहली चिंगारी मेरठ से ही भड़की थी, 10 मई 1857 को क्रांति की पहली चिंगारी आज ही के दिन भड़की थी। जिसकी याद में आज के दिन को क्रांति दिवस के रूप में मनाया जाता है। और उन क्रांतिवीरों और शूरवीरों के शौर्य को नमन किया जाता है।

तो आज मेरठ के कमिश्नरी पार्क में हरिकांत अहलूवालिया जोकि बीजेपी पार्टी से मेयर पद के उम्मीदवार हैं, सुमेंद्र तोमर जो कि बीजेपी से राज्य मंत्री है, धर्मेन्द्र भारद्वाज बीजेपी से एमएलसी हैं। ये सभी कमिश्नरी पार्क में मौजूद चौधरी चरण सिंह की विशालकाया मूर्ति को सम्मान देते हुए नजर आए। और भी कई मुख्य पदाधिकारियों की मौजूदगी देखने को मिली।

इन सभी ने आज उन क्रांतिवीरों को याद किया और साथ ही उनके शौर्य की गाथा के कुछ अंश को याद करके उनकी मिसाल देते हुए नजर आए।

आपको बता दें की 9 में 1857 को चर्बी लगी कारतूस का इस्तेमाल करने से मना करने वाले 85 सिपाहियों को कोर्ट मार्शल कर मेरठ के विक्टोरिया पार्क स्थित जेल में बंद कर दिया था सैनिकों पर हुई इस कार्यवाही और अपमान ने क्रांति को जन्म दे दिया 10 मई को शाम होते होते अंग्रेजों के खिलाफ विद्रोह भड़क उठा और यहीं से पहली चिंगारी भड़की।

Show More

Related Articles

Back to top button