फार्म भरने, पहचान पत्र दिखाने पर बदले गये 2000 के नोट, बैंकों ने बनाये अलग-अलग नियम। वर्तमान समाचार

दो हजार रुपये के नोटों की वापसी को लेकर बैंकों में अस्पष्टता और असमंजस देखने को मिल रहा है कहीं पहचान पत्र दिखाने को कहा जा रहा है तो कहीं अलग से फार्म भरने को बोला जा रहा है। आरबीआई ने पहले ही संकेत दिया था और उसके बाद भारतीय स्टेट बैंक ने अपने दिशानिर्देश में कहा था कि आम जनता से बगैर किसी पहचान पत्र दिखाये या कोई फार्म भरे ही एक बार में 20 हजार रुपये मूल्य के दो हजार रुपये के नोटों को बदलने की इजाजत होगी।लेकिन मंगलवार को जब बैंक शाखाओं पर ग्राहक नोट बदलवाने के लिए पहुंचे तो उनसे बैंकों ने फार्म भी भरवाये और उनसे पहचान पत्र की जानकारी भी मांग ली। जो लोग बैंक खातों में दो हजार रुपये के नोट भरवाने के लिए पहुंचे उनसे अलग से कोई जानकारी निश्चित तौर पर नहीं मांगी गई। बैंकों को इसकी जरूरत भी नहीं थी। आरबीआई के निर्देश के मुताबिक मंगलवार से सारे बैंकिंग शाखाओं के जरिए दो हजार के नोटों को सिस्टम से वापस लाने की प्रक्रिया शुरू हो गई। समाचार पत्र दैनिक जागरण ने इस बारे में कई बैंकों से बात-चीत की, सभी ने यही कहा कि उनकी शाखाओं पर दो हजार रुपये के नोट एक्सचेंज कराने वाले लोगों की कोई खास भीड़ तो नहीं आई है। अधिकांश बैंकों ने दावा किया कि प्रक्रिया पहले दिन सुचारू रही। एचडीएफसी शाखा में एक कस्टमर केयर एक्जीक्यूटिव ने कहा “लोगों को इस बात को लेकर कुछ भ्रम था कि वे कितनी मुद्रा का आदान-प्रदान कर सकते हैं या उन्हें बैंक में जमा करना चाहिए या उन्हें बदलना चाहिए। हम उनके प्रश्नों को हल करने में कामयाब रहे।

Show More

Related Articles

Back to top button