दिल्ली: पहलवानों के समर्थन में उतरे भारतीय किसान यूनियन के नेता, दिल्ली बॉर्डर पर किया कूच। वर्तमान समाचार

सहारनपुर जनपद से राष्ट्रीय आह्वान पर नागल क्षेत्र से करीब सौ भाकियू कार्यकर्ता व पदाधिकारियों के साथ सुबह करीब 8:30 बजे दिल्ली के गाजीपुर बॉर्डर पर महापंचायत में शामिल होने के लिए कूच कर गए। हालांकि इस दौरान बस स्टैंड पर थाना प्रभारी निरीक्षक प्रवेश कुमार भारी पुलिस बल के साथ किसानों को रोकने का प्रयास किया लेकिन उन्होंने दो टूक कहा कि वह हर हाल में महापंचायत मे शामिल होंगे। सुबह करीब 7:30 बजे से ही  कार्यकर्ता कस्बे के बस स्टैंड पर इकट्ठे होने लगे और नारेबाजी करने लगे।

इस मौके पर जिला अध्यक्ष चौधरी राजपाल सिंह ने कहा कि सरकार किसानों को बर्बाद करना चाहती है लेकिन किसान किसी भी कीमत पर झुकने वाला नहीं है। उन्होंने कहा महिला पहलवानों को अन्याय के विरुद्ध आंदोलन करना पड़ रहा है लेकिन सरकार चुप्पी साधे बैठी है। पिछले दिनों किसान यूनियन ने भी महिला पहलवानों के आंदोलन का समर्थन किया था जिसको लेकर रविवार को गाजीपुर बॉर्डर पर महापंचायत होनी है।
नागल के साथ-साथ जिलेभर से अपने अपने साधनों से कार्यकर्ताओं ने दिल्ली कूच किया है।  

बिजनौर में किसानों के बॉर्डर कूच को लेकर अलर्ट रही पुलिस।

बिजनौर में किसानों के दिल्ली कूच के एलान को लेकर पुलिस अलर्ट रही। रेलवे स्टेशन बस स्टैंड समेत जिले के बॉर्डर और दिल्ली की तरफ जाने वाले रास्ते पर रात भर पुलिस ने वाहनों की चेकिंग की थी। अब अब तक भी वाहनों को चेक करने के बाद ही आगे बढ़ने दिया जा रहा है।

दिल्ली कूच को लेकर पुलिस शनिवार की दोपहर से ही सक्रिय हो गई थी। एलआईयू समेत सभी थाना प्रभारी किसान नेताओं की गतिविधियों पर नजर रख रहे थे, भाकियू के कुछ पदाधिकारियों ने अपने फोन नंबर भी बंद किए। हालांकि पुलिस को चकमा देकर चांदपुर से एक जत्थे के दिल्ली पहुंचने का पदाधिकारी दावा कर रहे हैं।

Show More

Related Articles

Back to top button