दिन दहाड़े बेटे के हत्यारे बेफिक्र घूम रहे, पिता को नहीं मिली SSP कार्यालय से भी कोई सहायता। वर्तमान समाचार

मेरठ- घर से बाइक पर सामान लेने निकला एक युवक को कुछ बदमाशों ने पुरानी रंजिश के चलते उतारा मौत के घाट। संबंधित थाने में कोई सुनवाई ना होने के बाद सोमवार को रोता बिलखता परिवार पहुंचा था एसएसपी कार्यालय। एसएसपी कार्यालय से भी कोई सहायता नहीं मिली।

27 वर्षीय शाजेव समर गार्डन थाना लिसाड़ी गेट, मेरठ में रहता था। 15/05/2023 को सुबह करीब 10:00 बजे शाजेव अपनी बाइक से घर का कुछ सामान लेने के लिए निकला, लेकिन बहुत ज्यादा समय हो जाने के बाद जब परिवार ने लगातार फोन करके बातचीत करने की कोशिश की तो फोन संबंधित थाना खरखौदा की पुलिस ने उठाया। और परिवार के पूछने पर पुलिस ने बताया, की आपके बेटे की एक्सीडेंट में मौत हो चुकी है। जब परिवार थाना खरखौदा पहुंचा तो पूछ्ताछ में उन्हें पता चला कि किन्हीं अज्ञात लोगों ने शाजेव को मारकर इसकी हत्या कर दी है।

शाजेव के पिता जलीस अहमद का आरोप है, कि खरखौदा पुलिस इस मामले पर जांच नहीं कर रही है, बल्कि इस पूरी घटना को हत्या की जगह आत्महत्या का रूप देने का प्रयास कर रही है। जलीस अहमद ने बताया, कि उसका शव ट्यूबवेल में मिला था। वहां पर बदमाशों की मौजूदगी होने का दावा करते हुए, उन्होंने बताया की उन बदमाशों ने ही शेजाव की हत्या करके उस ट्यूबवेल में फेंक दिया था। जब परिजनों ने इसकी तहरीर एसएसपी कार्यालय में दी तो भी कोई सहायता परिवार को नहीं मिली, कहना है, कि अभी भी बेफिक्र घूम रहे बेटे के हत्यारे, फिर लाचार परिवार पहुंचा एसएसपी कार्यालय।

27 वर्षीय शाजेव का एक छोटा बच्चा, और एक गर्भवती पत्नी थी, शाजेव अपने माता-पिता (परिवार) के साथ साधारणता से अपना जीवन यापन कर रहा था। लेकिन हाल फिल्हाल में, थाना खरखौदा में कोई कानूनी कार्यवाही न होने पर लाचार परिवार पहुंचा था। एसएसपी कार्यालय और हत्यारों पर कानूनी कार्यवाही की मांग की थी, लेकिन कोई भी सहायता नहीं मिली। लाचार परिवार फिर एक बार एसएसपी कार्यालय पहुंचा, और बेटे की हत्यारों पर कानूनी कार्यवाही करने की मांग की।

Show More

Related Articles

Back to top button