श्री कृष्ण जन्मभूमि विवाद: मुस्लिम पक्ष को लगा तगड़ा झटका, हाईकोर्ट ने कही ये बड़ी बात। वर्तमान समाचार

प्रयागराज हाईकोर्ट सोमवार को श्रीकृष्ण जन्म भूमि मामले पर सुनवाई करते हुए एक बड़ा फैसला सुनाया। प्रयागराज हाईकोर्ट कटरा केशवदेव के नाम से दर्ज ईदगाह की जमीन विवाद को लेकर मथुरा में दाखिल सिविल वाद को तय करने का निर्देश दिया है। कोर्ट ने अंतरिम आदेश एवं पुनरीक्षण आदेश के खिलाफ दाखिल याचिका वापस करते हुए निस्तारित कर दी है। याचिका अब समर्थन करने योग्य नहीं रही है, इस पूरे मामले में कोर्ट ने कहा की इसमें पहले ही फैसला आ चुका है। ऐसे में कोई हस्तक्षेप नहीं किया जा सकता है। यह आदेश न्यायमूर्ति प्रकाश पाडिया ने सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड व अन्य की याचिका पर दिया है। कोर्ट ने इस याचिका में हस्तक्षेप करने से पूरी तरह से इंकार कर दिया है।

क्या है पूरा मामला?

मथुरा सिविल कोर्ट में श्रीकृष्ण विराजमान की तरफ से दाखिल वाद को खारिज करने की मांग को लेकर शाही ईदगाह पक्ष ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की थी। श्रीकृष्ण विराजमान के अधिवक्ता श्री हरिशंकर जैन ने बताया थी कि हाईकोर्ट ने शाही ईदगाह पक्ष द्वारा उनके मथुरा कोर्ट में दाखिल वाद को खारिज करने की मांग को लेकर याचिका पर फैसला सुनाया है।

क्या है मांगे? 

इस पूरे प्रकरण में भगवान श्रीकृष्ण विराजमान की तरफ से सिविल जज की अदालत में 20 जुलाई 1973 के फैसले को रद्द करने और 13.37 एकड़ कटरा केशव देव की जमीन को श्रीकृष्ण विराजमान के नाम घोषित किए जाने की मांग की गई थी। वादी पक्ष की ओर से कहा गया था कि जमीन को लेकर दो पक्षों के बीच हुए समझौते के आधार पर 1973 में दिया गया निर्णय वादी पर लागू नहीं होगा, क्योंकि उसमें वह पक्षकार नहीं था।

Show More

Related Articles

Back to top button