सत्यपाल मलिक बोले ‘प्रधानमंत्री को करप्शन से कोई दिक्कत नहीं है’, राहुल ने कसा तंज दावे पर मची खलबली। वर्तमान समाचार

जम्मू कश्मीर समेत कई अन्य राज्यों के राज्यपाल रह चुके सत्यपाल मलिक ने एक ताजा इंटरव्यू में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कई आरोप लगाए हैं, जिनसे राजनीतिक गलियारों में गर्मी बढ़ गई है। दरहसल कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भ्रष्टाचार के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरते हुए जम्मू कश्मीर के पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक के एक इंटरव्यू के हवाले से कहा कि ‘प्रधानमंत्री को देश में होने वाले भ्रष्टाचार से कोई दिक्कत नहीं है न ही उन्हें उससे नफरत होती है’। गौरतबल है कि यह सारी बातें जम्मू कश्मीर के पूर्व गवर्नर सत्यपाल मलिक ने हाल ही मे दिए गए एक इंटरव्यू के दौरान कहीं थीं। सत्यपाल मलिक जम्मू कश्मीर और गोवा समेत कई राज्यों के गवर्नर रह चुके हैं। उन्हीं के समय में जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को खत्म कर दिया गया था और बाद में इसे दो हिस्सों मे विभाजित कर केंद्र शासित प्रदेश में बदल दिया गया था।

प्रधानमंत्री को भ्रष्टाचार से कोई दिक्कत नहीं।

हाल ही में द वायर के वरिष्ठ पत्रकार करण को दिए गए एक इंटरव्यू के दौरान सत्यपाल मलिक ने कहा ‘हमारे प्रधानमंत्री को भ्रष्टाचार से कोई दिक्कत नहीं है। जिसका एक उदाहरण मैंने गोवा में देखा भी है। जब भ्रष्टाचार के एक मुद्दे पर मैनें उनसे शिकायत यहां लो लेवल करप्शन हो रहा है। तीन दिन बाद उन्होंने मुझे फोन करके कहा कि सत्यपाल भाई आपको गलत जानकारी मिली है मैने फोन करके मालूम किया ऐसा कुछ नहीं है। मैने पूछा किससे मालूम किया तो उन्होंने कहा फला आदमी से मालूम किया। तब मैने उनसे कहा कि वो व्यक्ति मुख्यमंत्री के घर बैठकर पैसे ले रहा है। जिसके एक हफ्ते बाद मेरा ट्रांसफर कर दिया गया’।

पुलवामा हमले के दौरान चुप रहने को कहा था: सत्यपाल मलिक

वर्ष 2019 में जब सीआरपीएफ के काफिले पर हमला हुआ था तब सत्यपाल मलिक ही जम्मू कश्मीर के गवर्नर थे। इंटरव्यू के दौरान उन्होंने यह भी कहा कि ‘प्रधानमंत्री को जम्मू कश्मीर के बारे में बिलकुल भी जानकारी नहीं है। जब सीआरपीएफ के काफिले पर आत्मघाती हमला हुआ था तब उन्होंने मुझे चुप रहने को कहा था’। मलिक ने बताया कि ‘सीआरपीएफ ने जवानों को ले जाने के लिए एयरक्राफ्ट मांगा था लेकिन हमने ही उन्हें एयरक्राफ्ट नहीं दिया। अगर उन्हें एयरक्राफ्ट दिया गया होता तो एक बड़ा हादसा टाला जा सकता था। मेरी बात पर प्रधानमंत्री ने मुझे चुप रहने को कहा था’।

Show More

Related Articles

Back to top button