आदमी ने सरकारी कर्मचारी की हत्या की, शव को गड्ढे में दफनाया, फोन उखाड़ दिया: जानिए  पुलिस ने सनसनीखेज दिल्ली हत्याकांड को कैसे सुलझाया| वर्तमान समाचार

दिल्ली पुलिस ने सर्वे ऑफ इंडिया के ऑफिस में सर्वेयर महेश की सनसनीखेज हत्या के मामले को सुलझा लिया है और आरोपी अनीश को पकड़ लिया है। पुलिस ने 5 लाख रुपये नकद, अपराध में प्रयुक्त 2 वाहन, अपराध का हथियार, मृतक का वाहन और अन्य सामान भी बरामद कर लिये हैं।

29 अगस्त को मृतक के भाई मनेश ने आरके पुरम थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थ। गुमशुदगी की रिपोर्ट में बताया गया कि 28 अगस्त को दोपहर करीब 12:30 बजे उसके बड़े भाई महेश ने घर पर फोन कर कहा कि वह अपने साथी अनीश से मिलने सेक्टर-2 आरकेपुरम में जा रहा है और उसके बाद से वह लापता है। पुलिस ने तुरंत एक सर्च टीम बनाई और जांच शुरू की। पूछताछ में लापता महेश के मोबाइल फोन की आखिरी लोकेशन फरीदाबाद (हरियाणा) में मिली। टीम ने तलाश की लेकिन कोई सुराग नहीं लगा। पूछताछ के दौरान, लापता व्यक्ति महेश और तकनीकी निगरानी से जुड़े विभिन्न संदिग्धों का भी विश्लेषण किया गया।

जिसके बाद अनीश से पूछताछ की गई जिसमें उसने अपना अपराध कबूल कर लिया। पुलिस के मुताबिक, अनीश ने महेश से 9 लाख रुपये लिए थे और वह चुका नहीं पा रहा था। यही उनकी हत्या का कारण बना।

28 अगस्त को ऑफिस से छुट्टी लेकर अनीश लाजपत नगर और साउथ एक्स मार्केट गए और वहां से 6 फीट की पॉलिथीन और फावड़ा खरीदा। पुलिस के मुताबिक, महेश दोपहर करीब 12 बजे आरके पुरम सेक्टर 2 स्थित अनीश के घर पहुंचे। आरोपी ने घर में ही पाइप रिंच से सिर पर वार कर महेश की हत्या कर दी। इसके बाद आरोपी बाइक से सोनीपत अपने घर चला गया और पुलिस को भ्रमित करने के लिए फोन वापस दिल्ली स्थित घर में छोड़ दिया। फिर 29 अगस्त को उसने शव को सरकारी आवास के पीछे डेढ़ फीट गहरे गड्ढे में दबा दिया और फर्श को सीमेंट से पक्का कर दिया। पुलिस ने 2 सितंबर को शव बरामद किया। तकनीकी और परिस्थितिजन्य साक्ष्यों के आधार पर पुलिस ने मामले का खुलासा किया। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है और आगे की जांच जारी है।

Show More

Related Articles

Back to top button