बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलीं ममता बैनर्जी 2024 के चुनावों को लेकर किया आत्ममंथन। वर्तमान समाचार

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी आज बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव से मिलीं। इस मुलाकात में उन्होंने कहा कि भाजपा विरोधी पार्टियों के महागठबंधन को लेकर अहंकार का कोई टकराव नहीं है। उन्होंने दावा किया कि वह पहले भी कह चुकी हैं कि उन्हें सभी समान विचारधारा रखने वाले विपक्षी दलों के एक साथ आने से  कोई आपत्ति नहीं है। आगे उन्होंने कहा कि जय प्रकाश नारायण जी का आंदोलन बिहार से शुरु हुआ था, मैं चाहती हूं कि उसी बिहार की धरती पर हम सभी एक साथ इक्टठा हों तब हम ये तय कर पाएंगे की हमे जाना कहां है। मैंने हमेशा दोहराया है कि बीजेपी को शून्य पर लाया जाना चाहिए। वे मीडिया की मदद से और दिन पर दिन नकली बयानों को आगे बढ़ाते हुए बहुत बड़े नायक बन गए हैं। वे सभी जुमलों और गुंडागर्दी में लिप्त हैं”। ममता ने नीतीश कुमार की पार्टी द्वारा प्रस्तावित एक सीट-एक-उम्मीदवार के फॉर्मूले पर कहा कि “यदि विचार, दृष्टि और मिशन स्पष्ट हैं, तो हमे कोई समस्या नहीं होने वाली है”। ममता ने कहा कि जो अभी राज्यों में सरकारें है उन्हें वैसे भी किसी से कोई मतलब नहीं वे केवल अपनी पब्लिसिटी कर रहे उन्हें न तो जंता से मतलब है और न ही देश के विकास से कोई लेना देना है। विपक्षी दलों को एक साथ लाने के इस मिशन पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भाजपा के खिलाफ महागठबंधन बनाने के लिए ममता बनर्जी से मिलने के लिए आज कोलकाता में पश्चिम बंगाल राज्य सचिवालय पहुंचे थे। इन सब के इतर उन्होंने यह भी कहा कि “कांग्रेस का अस्तित्व भले खत्म हो रहा हो लेकिन हमे उससे कोई मोह भंग नहीं हो गया है, वे भी चाहे तो हमारे साथ आ सकते हैं”।   

Show More

Related Articles

Back to top button