लखनऊ: लंबे समय से बिमार चल रहे शीश महल लखनऊ के ‘नवाब मीर अब्दुल्ला’ का हुआ निधन। वर्तमान समाचार

लखनऊ: शीश महल लखनऊ के नवाब मीर अब्दुल्ला का बीते मंगलवार रात को निधन हो गया वे 73 वर्ष के थे, और लंबे समय से बीमार चल रहे थे। उनके सबसे छोटे दामाद फाराज़ अली ने बताया की लंबे समय से वे डायलिसिस पर थे और बीती रात उन्होंने आखिरी सांस ली। उनके निधन पर उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव ने भी दुख जताते हुए ट्वीट कर कहा कि शीश महल लखनऊ के नवाब मीर अब्दुल्लाह साहब का इंतकाल एक युग का अंत है। पूर्व सीएम ने जाफर मीर अब्दुल्लाह को श्रद्धांजलि देते हुए शोकाकुल परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की। इतना ही अखिलेश यादव के चाचा और सपा नेता शिवपाल सिंह यादव ने भी शोक जताते हुए ट्वीट किया तहज़ीब, सक़ाफत व नवाबी विरासत एवं ऐश्वर्य के ध्वजवाहक और शीश महल लखनऊ के नवाब जाफ़र मीर अब्दुल्लाह साहब के निधन का दुःखद समाचार प्राप्त हुआ है। आप लखनऊ से और लखनऊ आप से अलग नहीं हो सकता।

मोहसिन रज़ा ने भी किया ट्वीट।

‘यूपी के पूर्व मंत्री मोहसिन रजा ने ट्वीट किया, “इन्ना लिल्लाहे वा इन्ना इलाहे राजेउन” जनाब नवाब जाफ़र मीर अब्दुल्लाह साहब का इंतेक़ाल लखनऊ के विवेकानंद हॉस्पिटल में होने की दुःखद ख़बर मिली, अल्लाह उनको जन्नत में स्थान दें, और उनके घरवालों वा चाहने वालों को ये ग़म सहने की ताक़त अता करे’।

कांग्रेस नेताओं ने भी जताया दुख।

‘लखनऊ की शान नवाब जाफर मीर अब्दुल्ला का इंतकाल हो गया है। यह लखनऊ की तहज़ीब के एक दौर के ख़त्म होने की ख़बर है, नवाब साहब चलता फिरता लखनऊ थे, जो लखनऊ की हर महफ़िल की ज़ीनत थे, उनका न रहना, एक पूरी रवायत का न रहना है’। यूपी कांग्रेस के नेता सैफ अली नकवी ने ट्वीट किया, ‘लखनऊ के नवाब जफर मीर अब्दुल्ला का आज निधन हो गया। अजीम शख्सीयत जो अवध संस्कृति और नवाबी जीवन शैली की संस्था थे, यादें रह जाती हैं’।

Show More

Related Articles

Back to top button