लखनऊ: अब कमांड सेंटर से होगी चौराहों की मॉनिटरिंग। वर्तमान समाचार

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के 71 चौराहों पर स्थानीय थाने व यातायात पुलिस के जवानों को अब मुस्तैद किया जाएगा। इस पर कड़ी नज़र कमांड सेंटर से रखी जाएगी। डीजीपी ने की समीक्षा बैठक में यातायात व्यवस्था को और सुचारू बनाने के लिए पुलिस कमिश्नरेट को 5 जोन व 11 सेक्टर में बांटा गया है। यातायात व्यवस्था सुधारने के लिए पुलिस कमिश्नरेट में ट्रैफिक कमांड सेंटर बनाया जाएगा। इसी जगह से पूर राजधानी की यातायात व्यवस्था की निगरानी होगी। और तो और ट्रैफिक सुधार के लिए पूरे कमिश्नरेट के पांचों जोन व 11 सेक्टरस मे पुलिस के जवानों को मुस्तैदी से काम करना होगा जिसकी पूरी निगरानी भी रखी जाएगी। यही नहीं ड्यूटी व्यवस्था भी बदली जाएगी। अब 71 चौराहों पर स्थानीय थाने व यातायात पुलिस यानी दोनों के जवान मुस्तैद किए जाएंगे। वहीं, 191 चौराहों की जिम्मेदारी यातायात पुलिस पर होगी। डीजीपी आरके विश्वकर्मा ने मंगलवार को कमिश्नरेट पुलिस के साथ बैठक में यातायात प्रबंधन की समीक्षा की, जहां पुलिस आयुक्त एसबी शिरडकर ने यातायात योजना पेश की, जिसमें उन्होंने बताया कि यातायात प्रबंधन के लिए पूरे कमिश्नरेट को पांच जोन व 11 सेक्टर में बांटा गया है। जोन स्तर पर सहायक पुलिस आयुक्त (एडीसीपी) और सेक्टर में यातायात निरीक्षक नेतृत्व करेंगे। 162 चौराहों के लिए ड्यूटी चार्ट भी पेश किया गया है। इसमें यातायात के साथ ही स्थानीय थाने की पुलिस की तैनाती तय की गई है। डीजीपी ने पूरी योजना को तत्काल प्रभाव से लागू करने का निर्देश दिया है।

Show More

Related Articles

Back to top button