क्या मुस्लिम होना कोई गुनाह है? अपनी बेटी के साथ हुए गलत कृत्य पर कोई कानूनी कार्यवाही ना होने पर बोला एक पिता। वर्तमान समाचार

बहुसंख्यक समाज के व्यक्ति पर अल्पसंख्यक समाज की 9 वर्षीय बच्ची के साथ छेड़छाड़ के आरोपी की गिरफ्तारी की मांग और सुरक्षा की गुहार लगाने परिजन आज पहुंचे एसएसपी कार्यालय।

पीड़िता का पिता इसरार ग्राम कबटटा, थाना खरखौदा, जिला मेरठ का रहने वाला है। इसी गांव में रहने वाला व्यक्ति सतपाल पर इसरार का आरोप है, कि दिनांक 14/05/2023 को बेटी के साथ गलत कृत्य किया है इसकी शिकायत थाना खरखौदा में करने के बावजूद ना तो आरोपी वाज आ रहा है, नाही थाने से कोई कार्यवाही हो रही है।

पीड़िता के पिता इसरार ने बताया कि आरोपी सतपाल गलत प्रवृति का है और अपने आप को बड़ा गुंडा बताता है। साथ ही आरोप है कि दिनांक 14/05/2023 को इनकी पुत्री के साथ सतपाल ने गलत कृत्य किया था जिसके 1 दिन बाद ही परिजनों ने थाना खरखौदा में मुकदमा अपराध संख्या 0205 सन 2023 अंतर्गत धारा 354क आईपीसी व 7/8 पाॅक्सो अधिनियम के तहत दर्ज कराया था। साथ ही बताया की सतपाल अपराधिक प्रवृति का है, घटना के दिन से ही लगातार बेटी और उसके परिजनों को धमकी दे रहा है, कि या तो मुकदमा वापस ले लो नहीं तो पूरे परिवार को खत्म कर दिया जाएगा।

इसरार का प्रशासन पर भी आरोप है, कि खुद पुलिस इस मामले पर समझौता करने के लिए हम पर दबाव डाल रही है। जब हम थाने गए तो वहां मौजूद करणवीर सिंह दरोगा नी मेरी पिटाई भी की थी। और मेरे भाई की पत्नी का मोबाइल थाने पर छीनकर मुझे व मेरे भाई इमरान को थाने पर ही बैठा लिया था

इसरार का कहना है, की हमारा परिवार आरोपी से इस समय डरा हुआ है, क्योंकि हमारी सहायता प्रशासन भी नहीं कर रहा है। इ। स्थिति में पूरे परिवार सहित हम गांव को छोड़कर कहीं ओर जाने के संबंध में भी विचार कर रहे हैं। ताकि उसके परिवार की जान बच सके।

क्या हमें ये मुस्लिम होने की सजा मिल रही है?

जब पीड़ित परिवार की सुनवाई खाने में नहीं हो रही है और आरोपी लगातार पूरे परिवार को जान से मारने की धमकी दे रहा है तो इस पर पीड़िता के पिता ने कहा की क्या हम मुसलमान हैं इसलिए हमारे साथ इतना अत्याचार हो रहा है क्या इसलिए हमारी कोई कार्रवाई नहीं हो रही है

थाना खरखौदा में किसी भी प्रकार की कोई सुनवाई ना होते देख आज पूरा परिवार एसएसपी कार्यालय पहुंचा और अपनी सुरक्षा की मांग और इस मामले पर कानूनी कार्रवाई की मांग की।

Show More

Related Articles

Back to top button