कानपुर: चेकिंग के बहाने की वारदात: दरोगा और इंस्पेक्टर ने मिलकर लूटी चांदी। वर्तमान समाचार

कानपुर के एक इंस्पेक्टर और दरोगा की करतूत ने यूपी पुलिस को शर्मसार कर दिया है। दोनों ने चेकिंग के बहाने बांदा के एक ज्वैलरी कारोबारी की कार रुकवाई। इसके बाद कार में रखी 50 किलो चांदी लूट ली। घटना 6 जून की है। 7 जून को इस मामले में FIR दर्ज हुई। जांच के बाद SP औरैया चारू निगम और कानपुर देहात के SP बीबीजीटीएस मूर्ति की मौजूदगी में भोगनीपुर में तैनात इंस्पेक्टर अजयपाल कठेरिया, दरोगा चिंतन कौशिक को गुरुवार रात अरेस्ट कर लिया। वहीं, सिपाही रामशंकर यादव अभी फरार है। पुलिस ने दरोगा के सरकारी आवास से लूटी गई 50 किलो चांदी भी बरामद कर ली। आईजी कानपुर ने इंस्पेक्टर, दरोगा और एक सिपाही को सस्पेंड कर दिया है। तीनों के खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दे दिए हैं। एसपी चारू निगम ने बताया कि संजय चिकवा उर्फ संजय टोपी करीब आठ महीने पहले मनीष सोनी की शॉप में काम करता था। ये पहले से ही मनीष की दुकान पर गलत नजर रखता था। इसकी संदिग्ध गतिविधियों के बारे में जानकारी होने पर मनीष सोनी ने उसे निकाल दिया था, जिससे वह बेरोजगार हो गया। संजय को मनीष सोनी की सभी गतिविधियों के बारे में जानकारी थी। उसने अपने दोस्त रफत के साथ मिलकर मनीष सोनी का माल रास्ते में लूटने की योजना बनाई।

Show More

Related Articles

Back to top button