ग्रेटर नोएडा लिफ्ट हादसा: 4 और मजदूरों की मौत, मृतकों की संख्या 8 तक पहुंची| वर्तमान समाचार

आम्रपाली लिफ्ट दुर्घटना: ग्रेटर नोएडा लिफ्ट दुर्घटना में मरने वालों की संख्या शनिवार को अस्पताल में चार और श्रमिकों की मौत के बाद बढ़कर आठ हो गई। ग्रेटर नोएडा वेस्ट में आम्रपाली ड्रीम वैली सोसाइटी की निर्माणाधीन इमारत में शुक्रवार को एक सर्विस लिफ्ट चौदहवीं मंजिल से गिर गई, जिससे चार लोगों की जान चली गई।

अधिकारियों के मुताबिक, पुलिस ने सरकारी एनबीसीसी के दो अधिकारियों समेत नौ लोगों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या, लापरवाही के कारण चोट पहुंचाने समेत अन्य आरोपों में प्राथमिकी दर्ज की है। लंबे समय से रुकी इस परियोजना को राज्य संचालित एनबीसीसी द्वारा पूरा किया जा रहा है।

शुक्रवार को बिहार के बलरामपुर जिले के इश्तियाक अली (23), बिहार के बांका के अरुण तांती मंडल (40), बिहार के कटिहार के विपोत मंडल (45) और उत्तर प्रदेश के अमरोहा जिले के आरिस खान (22) की मौके पर ही मौत हो गई।

गौतमबुद्ध नगर के डीएम मनीष कुमार वर्मा ने शनिवार को घोषणा की कि मृतक के परिजनों को 25 लाख रुपये का मुआवजा मिलेगा। जबकि 20 लाख रुपये का मुआवजा एनबीसीसी देगी और 5 लाख रुपये कोर्ट से मिलेंगे।

एफआईआर दर्ज कर ली गई है

अतिरिक्त डीसीपी (सेंट्रल नोएडा) राजीव दीक्षित ने शुक्रवार शाम को कहा कि घटना के संबंध में बिसरख पुलिस स्टेशन में नौ लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। बुक किए गए लोगों में एनबीसीसी के दो अधिकारी, लिफ्ट प्रदाता कंपनी के दो और दो साइट सुपरवाइजर शामिल हैं। सभी आरोपियों पर धारा 304 (गैर इरादतन हत्या), 308 (गैर इरादतन हत्या का प्रयास), 337 (लापरवाही के कारण चोट), 338 (लापरवाही के कारण गंभीर चोट), 287 (सम्मान के साथ लापरवाही आचरण) और भारतीय दंड संहिता की धारा 34 (सामान्य इरादा) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

Show More

Related Articles

Back to top button