मेरठ: हत्या करने के बाद फंदे से लटकाया शव। कार की मांग पूरी ना करने पर उठाया ये कदम। वर्तमान समाचार

कहते हैं शादी दो परिवारों के बीच का मिलन होता है। लेकिन कैसा हो जब यही रिश्ता किसी के लिए जानलेवा बन जाए। कुछ ऐसा ही वाक्या मेरठ के किठोर की रहने वाली शीबा के साथ हुआ। बता दें कि शीबा का निकाह दिनांक 17/02/2023 को किठोर के ही रहने वाले मोहम्मद फैजान नाम के व्यक्ति के साथ पूरे मुस्लिम रीति रिवाज के साथ हुआ था। दहेज के रूप में सभी सामान लड़की पक्ष की ओर से प्रेम पूर्वक दिया गया था। वहीं दूसरी तरफ लड़के के पक्ष के लोगों पर आरोप है, कि सरकारी नौकरी होने पर उनको दहेज के रूप में दिया गया सामान, समाज की नजरों में उनकी इज्जत को घटाता है। जिस कारण आरोपी परिवार के सभी लोग मिलकर शीबा को प्रताड़ित करने लगे और दहेज के रूप में एक गाड़ी (कार) और एक प्लॉट की मांग करने लगे।

प्रताड़ित हो रही पीड़िता अक्सर अपनी मां पर फोन करके इसकी सूचना देती रहती थी। लेकिन मजबूर माता-पिता खास कुछ करने में असमर्थ थे। अक्सर पीड़िता के साथ आरोपी मारपीट भी करते, लेकिन बेवस पीड़िता इसको सहती रही।

रिपोर्ट के अनुसार, घटना से 1 दिन पूर्व रात को पीड़िता की कॉल परिजनों के पास आती है जिसमें वह बताती है उसके ससुराल वाले उसके साथ मारपीट करते हैं। आप लोग आकर मुझे यहां से ले जाओ। लेकिन रात होने के कारण परिवार ने ससुराल वालों से बातचीत करने और उन्हें समझाने का आश्वासन बेटी को दिया। दिनांक 17/05/2023 को जब शीबा के पिता बेटी के ससुराल पहुंचे तो वहां पाया कि उसकी बेटी मृत अवस्था में बेड पर लेटी हुई है और आरोपी परिवार के लोग वहां से गायब थे।

आपको बता दें, कि मृतक शीबा ने 10वीं और 12वीं कक्षा में अपना स्कूल टॉप किया था। और बीते 14 मई को पीसीएस का एग्जाम भी दिया था, जिसका रिजल्ट आना बाकी है। लेकिन 17 मई को शीबा का शव उसके कमरे में मिला। ससुराल वालों का कहना है कि यह महज एक आत्महत्या बता रहे हैं। लेकिन शीबा के माता-पिता का आरोप है, की बेटी की हत्या की गई है।

पीड़ित परिवार का आरोप है कि खुद को बेकसूर साबित करने के लिए आरोपी परिवार ने बेटी की हत्या करके इसको फांसी का रूप दिया है। इसी मामले पर परिजनों ने एसएसपी कार्यालय पहुंचकर, कानूनी कार्यवाही करने की मांग की।

Source- Prince Raj

Show More

Related Articles

Back to top button