चीन और भारत में बढ़ते तनाव के बीच भारत आए चीन के रक्षा मंत्री, राजनाथ सिंह ने कही यह बड़ी बात। वर्तमान समाचार

चीनी रक्षा मंत्री ली शांगफू दोनो देशों के बीच तनावपूर्ण संबंधों के बीच एक महत्वपूर्ण सुरक्षा शिखर बैठक में भाग लेने के लिए भारत पहुंचे हैं। ली शुक्रवार को भारतीय राजधानी दिल्ली में होने वाली शंघाई सहयोग संगठन (SCO) के रक्षा मंत्रियों की बैठक मे शामिल होने भारत आए हैं। भारत के रक्षा मंत्रालय ने भारत-चीन सीमा क्षेत्रों के साथ-साथ द्विपक्षीय संबंधों के विकास के बारे में चर्चा की। भारत के रक्षा मंत्री ने स्पष्ट रूप से कहा कि भारत और चीन के बीच संबंधों का विकास सीमाओं पर शांति और शांति के प्रसार पर आधारित है। सरकारी सूत्रों के मुताबिक राजनाथ सिंह ने ली से कहा कि इस बात का ध्यान रखा जाना चाहिए की LAC पर दोनो सेनाओं के बीच टकराव कि स्थति उत्पन्न ना हो। उन्होंने कहा कि LAC पर सभी मुद्दों को मौजूदा द्विपक्षीय समझौतों और प्रतिबद्धताओं के अनुसार हल करने की जरूरत है। रक्षा मंत्रालय ने कहा कि मौजूदा समझौतों के उल्लंघन ने द्विपक्षीय संबंधों के पूरे आधार को खत्म कर दिया है और सीमा पर पीछे हटने का तार्किक रूप से डी-एस्केलेशन किया जाएगा। बता दें इस बैठक में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल अनिल चौहान और रक्षा सचिव गिरिधर अरमाने भी मौजूद थे। अभी पिछले ही हफ्ते भारत और चीन दोनों की सेनाओं के बीच 18 वे राउंड की बैठक हुई थी, जिसमें विश्वास निर्माण के उपाय और आने वाले महीनों में सीमाओं पर टकराव से बचने के तौर तरीकों पर बात हुई थी।

Show More

Related Articles

Back to top button