अतीक अहमद: कौन है वो जिसकी तारीफ में अतीक ने पढ़े थे कसीदे। वर्तमान समाचार

प्रयागराज: माफिया डॉन रहे अतीक अहमद को जब पिछले साल अहमदाबाद की जेल में शिफ्ट किया जा रहा था, तब रास्ते में पत्रकारों से उसने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जमकर तारीफ की थी। कड़ी सुरक्षा के बीच पुलिस वैन से उतरते वक्त अतीक ने मीडियाकर्मियों से ऑन कैमरा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ में कसीदे पढ़ते हुए कहा था कि योगी बहादुर और ईमानदार मुख्यमंत्री हैं। इतना ही नहीं अतीक ने कहा था कि मुख्यमंत्री योगी बहुत मेहनत कर रहे हैं लेकिन विडंबना देखिए कि अतीक ने जिसकी तारीफ में कसीदे पढ़े थे, उसने छह महीने के अंदर ही ऐसा कानूनी शिकंजा कसवाया कि इस माफिया का खेल ही खत्म हो गया। उमेश पाल मर्डर केस में रिमांड पर साबरमती जेल से UP लाए गए अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ को पिछले शनिवार 15 अप्रैल को प्रयागराज के कल्विन हॉस्पिटल ले जाते वक्त तीन बदमाशों ने पुलिस की मौजूदगी में ही ढेर कर दिया।  इससे पहले सीएम योगी आदित्यनाथ खुद विधानसभा के सत्र में कह चुके थे कि वो इस माफिया को मिट्टी में मिला देंगे। इससे पहले अतीक का बेटा असद भी एक मुठभेड़ में मारा जा चुका था। उसकी बीवी शाइस्ता परवीन अभी तक फरार चल रही है, जबकि दो अन्य बेटे भी जेल में बंद है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अतीक अहमद के पास करीब ग्यारह हजार 11,000 करोड़ रुपये की संपत्ति है। ईडी ने अतीक के ठिकानों पर छापेमारी कर अब तक करीब सौ से ज्यादा बेनामी संपत्तियों का खुलासा किया है। अतीक अहमद इलाहाबाद पश्चिम सीट से 1989 से लगातार पांच बार एमएलए और 2004 से 2009 तक फूलपुर सीट से सपा के टिकट पर लोकसभा सांसद रह चुका था। उसके सिर पर देश के पहले भगोड़े सांसद होने का रिकॉर्ड भी था। समाजवादी पार्टी के संस्थापक स्वर्गीय मुलायम सिंह यादव और उनकी पार्टी से अतीक के करीबी रिश्ते रहे हैं लेकिन यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने पार्टी के अंदर अतीक का विरोध किया था।

Show More

Related Articles

Back to top button