नौकरी में नहीं होता अब भाई-भतीजावाद, पीएम मोदी के निशाने पर आखिर कौन। वर्तमान समाचार

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के लखनऊ में भी मोदी सरकार की रोजगार मेले का आयोजन किया गया। प्रतिभाशाली युवाओं को नौकरी के अवसर प्रदान किए गए। देश के करीब 70 हजार युवाओं को सरकारी नौकरी का तोहफा रोजगार मेले के माध्यम से दिया गया। लखनऊ में आयोजित कार्यक्रम के दौरान केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी मौजूद रहीं। उन्होंने युवाओं को रोजगार का अवसर मिलने पर बधाई दी। इस मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी ने युवाओं को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि नौकरी से भाई-भतीजाबाद खत्म हुआ है। उनके हमले को एक अलग नजरिए से देखा जा रहा है। यूपी के संदर्भ में इसका अलग अर्थ लगाया जा रहा है। प्रदेश में नौकरियों में भाई-भतीजावाद का आरोप लगातार लगता रहा है। स्मृति ईरानी ने इस मौके पर कहा कि देश में आयोजित छठे रोजगार मेले में नवनियुक्तों के योगदान से निश्चित रूप से देश के विकास को और बल मिलेगा।यूपी भाजपा के शीर्ष नेता भी सरकारी नौकरी में भाई-भतीजावाद के मुद्दे को जोरदार तरीके से उठाते रहे हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ कई जनसभाओं में इस मुद्दे को उठाते रहे हैं। वे कहते रहे हैं कि एक परिवार के सदस्य सरकारी नौकरी की वैकेंसी आते ही झोला लेकर निकल जाते हैं। इन तमाम आरोप-प्रत्यारोप के बीच पीएम नरेंद्र मोदी ने भी भाई-भतीजावाद के मुद्दे को गंभीरता से उठाया है। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार में इस प्रकार की स्थिति खत्म हुई है। प्रतिभाशाली युवाओं को नौकरी का लाभ मिल रहा है। उन्होंने सरकारी नौकरी पाने वाले युवाओं को बधाई दी। पीएम मोदी ने युवाओं का आह्वान किया कि वे स्वरोजगार के क्षेत्र में आगे बढ़ें। विश्व को भारत की अर्थव्यवस्था पर भरोसा है। पहले देश के साथ ऐसा भरोसा नहीं था। अब देश की अर्थव्यवस्था आगे जा रही है। बड़े स्तर पर विदेशी निवेश हो रहा है। रोजगार में तेजी से वृद्धि हुई है। पुरानी सरकार की पहचान भ्रष्टाचार से थी। हम ऑटोमोबाइल के क्षेत्र में छलांग लगा रहे हैं। आज हमारा देश पहले से कहीं अधिक सुरक्षित है। राजनीतिक स्थायित्व ने देश की पहचान बदली है। फैसला लेना हमारी पहचान बनी है।

Show More

Related Articles

Back to top button