नरेश टिकैत के मनाने पर गंगा में मेडल बहाए बिना हरिद्वार से वापस लौटे पहलवान। वर्तमान समाचार

Wrestlers Protest: भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) के प्रमुख बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ पहलवानों का प्रदर्शन जारी है। इस बीच हरिद्वार में गंगा नदी में प्रदर्शनकारी खिलाड़ी साक्षी मलिक, विनेश फोगाट और बजरंग पुनिया मंगलवार (30 मई) को अपने मेडल बहाने पहुंचे लेकिन किसान नेता नरेश टिकैत ने खिलाड़ियों को रोक दिया। पहलवानों के इस कदम पर बीजेपी के सांसद बृजभूषण सिंह ने भी बयान दिए हैं। उन्होंने कहा कि गंगा की जगह पदक नरेश टिकैत को दे दिए गए। दूसरी तरफ कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और सीएम अरविंद केजरीवाल ने सरकार पर निशाना साधा। वहीं पूर्व क्रिकेटर अनिल कुंबले ने कहा कि उम्मीद है कि मामला जल्द सुलझेगा।

कुछ एक बड़ी बातें।

1. बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ एक्शन नहीं होने और 28 मई को जंतर मंतर पर हुई पुलिस कार्रवाई के खिलाफ प्रदर्शनकारी खिलाड़ियों ने मेडल गंगा में बहाने का मंगलवार को ऐलान किया। इसके बाद ये खिलाड़ी हरिद्वार के हर की पौड़ी पहुंचे। यहां ये सभी खिलाड़ी काफी भावुक नजर आए। इसी दौरान विपक्षी नेताओं और बीकेयू के राकेश टिकैत ने उनसे मेडल नहीं बहाने की अपील की।

2. इसी बीच किसान नेता नरेश टिकैत हरिद्वार पहुंचे और सभी खिलाड़ियों से मेडल अपने पास ले लिए और उन्हें पांच दिनों का समय देने के लिए कहा। टिकैत ने कहा कि दोषियों को बचाया जा रहा है। हमने खिलाड़ियों से वक्त मांगा है। एक जून को यूपी के मुजफ्फरनगर के सोरम गांव में खाप महापंचायत बुलाई गई है।

3. किसान नेता नरेश टिकैत ने एबीपी न्यूज से बात करते कहा कि खिलाड़ियों ने देश का मान बढ़ाया है। किस तरह से पहलवानों को 28 मई को घसीटा गया। पीएम नरेंद्र मोदी कहते हैं कि बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ लेकिन ये तो तार तार हो गया। बीजेपी बृजभूषण शरण सिंह को बचाने में लगी है। खिलाड़ी आपकी बात कैसे मान गए के सवाल पर उन्होंने कहा हमने पहलवानों को समझाया है।

Show More

Related Articles

Back to top button